हर समय मौत नजर आती है

0

50 साल पुरानी बिल्डिंग की जर्जर अवस्था में
कानूनी दांवपेंच में उलझे विक्रोली पूर्व के रहवासी
एमएमआरडीए व पीडब्ल्यूडी के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन
जर्जर सोसाइटी में आये दिन होती है घटनायें
बिल्डिंग का स्लैब गिरने से महिला का पैर फ्रैक्चर

सत्यप्रकाश सोनी/दोपहर
मुंबई। विक्रोली स्थित ईस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे के पास कन्नमवार नगर स्थित क्रीक व्यू बिल्डिंग नं 1 से बिल्डिंग नं 5 तक के लोगो में भय व्याप्त है। 50 साल पुरानी बिल्डिंग की जर्जर अवस्था को लेकर लोग काफी परेशान एवं चिन्तित है। बिल्डिंग में आये दिन स्लैब गिरने से दुर्घटनाएं भी हो रही है। जिसको लेकर अंदेशा है कि कभी भी घाटकोपर जैसी बढ़ी दुर्घटना हो सकती है। वही पुनर्विकाश को लेकर यहां के लोगो ने कई बार पत्र व्यवहार किया लेकिन एमएमआरडीए और पीडब्ल्यूडी के अधिकारी सिर्फ लोगो को चक्कर पर चक्कर लगवा रहे है।लेकिन यहां पर विकास को होने नही दे रहे है।सरकारी संस्थाये कानूनी दावपेच की आड़ में नही होने दे रही है पुनर्वशन। यही कारण है कि बुधवार को विक्रोली ईस्टर्न एक्सप्रेस के पास विक्रोली क्रीक व्यू बिल्डिंग नं 1 और 2 के पास एमएमआरडीए और पीडब्ल्यूडी के खिलाफ प्रदर्शन किया गया जिसमे सैकड़ों की संख्या में स्थानीय सोसाइटी के लोगो ने हिस्सा लिया और हाथ मे लिखित पाटिया लेकर अपना संदेश महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को देने का आह्वाहन किया जिसमें लिखा है कि वी वांट टू मीट चीफ मिनिस्टर स्टॉप दिस रेड टोपिन्स वही पीडब्ल्यूडी को भी पब्लिक वरी डिपार्टमेंट बताया।
सोसाइटी वालों ने एमएमआरडीए पर पीडब्ल्यूडी पर आरोप लगाते हुए बताया है कि हमसब को फुटबॉल मैच बिटवीन पीडब्ल्यूडी एंड एमएमआरडीए के जैसा वर्ताव कर रही है क्योंकि जब भी मिलने जाते है हमे कभी इधर कभी उधर भेज दिया जाता है।
इस मौके पर विशाल ठाकुर (सेक्रेटरी) बिल्डिंग नम्बर 45 टैगोर नगर विक्रोली ईस्ट ने बताया कि हमसब को न्याय चाहिए अगर न्याय नही मिला तो 25 मई को बढ़ा आंदोलन किया जाएगा। ठाकुर ने बताया कि हमारी जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। कानून के दायरे में होने के बावजूद भी हमारी सोसाइटी को रि-डेवलोपमेंट नही करने दिया जा रहा है। वही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से आह्वाहन किया है कि जल्द से जल्द हमारी सोसाइटी के मामले में निर्णय ले क्योंकि मुख्यमंत्री जब चाहे हमारे सोसाइटी का काम कर सकते है। बताया कि सोसाइटी काफी जर्जर हो चुकी है। कभी भी कोई बढ़ी दुर्घटना हो सकती है। वही विरोध प्रदर्शन के दौरान सोसाइटी के लोगो ने बताया कि 2 दिन पहले ही एक बड़ी दुर्घटना होने से बच गई वार्ना जान भी जा सकती थी।
विक्रोली बिल्डिंग नंबर 47 के तीसरे मंजिल पर एक महिला के ऊपर स्लैब गिरने से उसका पैर फ्रैक्चर हो गया है। जिसका इलाज किया जा रहा है ऐसे कई घटनाएं अक्सर हो रही है। जिससे यहां की स्थानीय लोगो मे भय का माहौल है।इस पूरे मामले में संयोजन संतोष खोत ने लोगो को कानून के दायरे में रहकर सरकार से अपील करने की मांग की है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)