सीए छात्राओं ने समझा रेप पीड़ितों का दर्द

0

छात्राओं ने दी राइट स्किल इंडिया संस्थान को पूरी जानकारी
रेप की शिकार महिलाओं के लिए सामने आए महेश गौड़

आर.एन.सिंह/ दोपहर
नालासोपारा। भारत देश में सजा के कड़े प्रावधान के बाद भी रेप जैसी घिनौने कृत्य आज भी प्रतिदिन हो रहे हैं| रेप जैसी घटना से पीड़िता के मानस पटल क्या गुजरती होगी| उसके दर्द और तकलीफ के बारे में सोचना भी दर्द का एहसास करा देता है| कानूनी जाल में तो यह महिलाएं न चाह कर भी फंस जाती है| कानूनी लड़ाई लड़ने, आगे का जीवन जीने में क्या क्या परेशानियां आती हैं| यह सोचकर भी रूह कांप जाती है| बहुत सी जगह सामाजिक संस्थाएं इसी तरह से रेप पीड़ितों के लिए आगे आती है| मगर फिर भी बहुत से क्षेत्र ऐसे हैं, जहां इनकी मदद के लिए कोई नहीं है, लेकिन एक ऐसी ही एक जगह है अहमदाबाद में, गोपाल जी का खड्डा (मुंबई की धारावी जैसा एरिया है), जहां बहुत सी महिलाओं के साथ रेप की घटनाएं हुई इन रेप पीड़ित महिलाओं को समझा और उनके लिए कुछ करने का इरादा बनाया कुछ सीए स्टूडेंट्स समृद्धी मंडावत, रेखा मंडावत, ममता शाह, मधु जैन और मीनाक्षी जैन आदि इन स्टूडेंट्स ने इस विषय में राइट स्किल इंडिया के संस्थापक देवेंद् खन्ना को यह जानकारी दी| इन महिलाओं के लिए कुछ करने का आग्रह किया| साथ ही इस विषय में पूरी जानकारी देते बताया कि क्षेत्र में लगभग 22 ऐसी महिला है जो रेप की शिकार हुई है|
इनमें से कुछ गर्भवती हैं कुछ की डिलीवरी होने वाली है|कुछ एनीमिया जैसी बीमारी का शिकार हो गई है, ऐसी महिलाओं के लिए हम स्टूडेंट्स कुछ करना चाहती हैं| देवेंद्र खन्ना ने बताया कि इन सीए स्टूडेंट्स का जज्बा देखकर वह खामोश नहीं रह सके और उन्होंने इस पूरे वाक्य की चर्चा अपने सहयोगी मित्र व सलाहकार डॉ. सी. ए. महेश गौड़ से की जो कि समाज सेवा में हमेशा आगे रहते हैं|
उन महिलाओं की मदद का इरादा बनाया| महेश गौड़ ने बताया कि जितनी मदद उनको चाहिए थी उतनी मदद कर दी गई है|फिलहाल कुछ नगद राशि देकर सहयोग किया गया है, मगर बाद में जो भी जरूरत इन महिलाओं को होगी वह मदद की जाएगी| यहां मैं स्टूडेंट्स के जज्बे को सलाम करता हूं और ऐसी किसी भी सामाजिक सेवा के लिए मैं और राइट स्किल इंडिया हमेशा उनके साथ सहयोग के लिए खड़े रहेंगे|

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)