श्रद्धा, धर्म और विज्ञान का मिश्रण है जैन धर्म : अमृता फडणवीस

0

मुंलुंड में सर्वोदयनगर देरासर में आयोजित हुआ कार्यक्रम
दोपहर संवाददाता
मुंबई। जैन धर्म श्रद्धा, धर्म और विज्ञान का मिश्रण है। इसलिए जैन विचारधारा के बारे में सिर्फ विचार ही नहीं करना चाहिए, उसे अपने आचरण में लाना चाहिए। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की पत्नी अमृता फडणवीस ने मुंलुंड में सर्वोदयनगर देरासर में आयोजित कार्यक्रम में यह विचार व्यक्त किया। इस अवसर पर जैन देरासर के ट्रस्टी सुखराज जी, नलिन शाह तथा ईशान्य मुंबई संसदीय सीट के भाजपा-शिवसेना गठबंधन के प्रत्याशी मनोज कोटक उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि बुधवार को मुलुंड पश्चिम में स्थित जैन देरासर में महावीर जयंती पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में सहभागी होकर अमृता देवेंद्र फडणवीस ने जैन समाज के लोगों को शुभकामना दी है। अमृता फडणवीस ने कहा कि इस समय लोगों के जीवन में भले ही प्रगति दिखती है, लेकिन जीवन की पद्धति में नैतिक मूल्यों का अभाव होते जा रहा है। लोगों की मानसिक शांति भंग होती जा रही है। यह मानसिक शांति जैन धर्म का अनुकरण करने से ही मिल सकती है। उन्होंने कहा कि भगवान महावीर के सिद्धांतों का अनुकरण करते हुए पर्यावरण संतुलन पर भी विशेष ध्यान देना जरूरी है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)