महावीर पर मुंबई में निकलेगी ऐतिहासिक रथयात्रा

0

44 जैन संघों का सबसे बड़ा आयोजन होगा प्रमुख आकर्षण
दोपहर संवाददाता
मुंबई। भगवान महावीर के जन्मकल्याणक महोत्सव पर बुधवार (17 अप्रेल) को इस बार मुंबई में होनेवाले आयोजनों में मुलुंड की ऐतिहासिक रथयात्रा सबसे विशेष आयोजन होगा। कुल 44 जैन संघों द्वारा सामूहिक रूप से आयोजित होनेवाले जैन धर्म के चारों समुदायों के इस सबसे बड़े कार्यक्रम में श्रीमती अमृता देवेंद्र फडणवीस मुख्य अतिथि होंगी।
साधु संतों की निश्रा में भव्य भक्ति संगीत, दैवीय स्वरूप में भव्य सजे हुए रथ एवं परंपरागत वेशभूषा में धर्मध्वजा लहराते हजारों युवकों सहित रंगबिरंगे परिधान पहने हजारों महिलाएं एवं गगनचुंबी इंद्रध्वजा, रथमार्ग पर रची गईं रंगोलियां इस रथ यात्रा के खास आकर्षण होंगे। सर्वोदय नगर जैन मंदिर से अनेक साधु – साध्वीगण की अगुवाई में यह रथयात्रा शुरू होगी। श्वेतांबर, दिगंबर, तेरापंथी एवं स्थानकवासियों के शिखर संगठन मुलुंड जैन महासंघ के चेयरमेन सुखराज नाहर ने बुधवार की सुबह 8.30 बजे से शुरू होनेवाली इस रथयात्रा में सभी लोगों से सहभागी होने की अपील की है।
मुंबई की यह सबसे बड़ी रथयात्रा मुलुंड जैन महासंघ द्वारा बीते 8 सालों से लगातार आयोजित की जा रही है, जिसमें हर साल समाहित कुछ नए आकर्षण इस रथयात्रा को मुंबई की सबसे बड़ी एवं सबसे भव्य रथयात्रा के रूप में स्थापित किए हुए हैं। सामाजिक एकता, धार्मिक भावना एवं अपनी सांस्कृतिक परंपराओं के प्रति समर्पित भावना के प्रभावशाली प्रदर्शन के इस विशिष्ट आयोजन में सभी युवक मंडल, महिला मंडल एवं सभी पाठशालाओं के छात्र आकर्षक वेशभूषा में शामिल होकर रथयात्रा की शोभा में अभिवृद्धि करेंगे। चारों फिरकों के श्रमण – श्रमणी एवं महासतीजी की पावन निश्रा में होनेवाली इस रथयात्रा हेतु इलाके के सभी जैन व्यापारिक संस्थान बंद रहेंगे। मुंबई के इस सबसे भव्य, विशाल और धार्मिक आकर्षणों से भरपूर आयोजन को पिछले आयोजनों के मुकाबले ज्यादा गरिमामयी एवं ऐतिहासिक बनाने के लिए सभी 44 जैन संघों के पदाधिकारी सुखराज नाहर के नेतृत्व में तैयारियों में लगे हैं। नाहर ने बताया कि चेतन शाह, चेतन देढ़िया, दीपक गोसर, दिनेशभाई ठलियावाला और नलिनभाई शाह के नेतृत्व में आयोजन को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि सर्वोदय नगर जैन मंदिर से शुरू होकर यह ऐतिहासिक रथयात्रा जिन मार्गों से निकलेगी, उन सभी को भव्य स्वरूप देने के लिए बंदनवार बंधेंगे, फूलों से सजी मालाएं बंधेंगी, रास्ते के सभी वृक्षों पर रंगबिरंगी रोशनी रचेगी और सड़कों की आकर्षक सजावट की जा रही है।
महावीर जन्मकल्याणक पर दिन की सजावट जितनी लुभावनी होगी ही, रात्रि का नजारा भी उतना ही ज्यादा भव्य होगा। भगवान महावीर के जन्मकल्याणक महोत्सव पर हो रहे विभिन्न आयोजनों में सहभागी होने के लिए बड़ी संख्या में बाहर से भी लोग बुधवार को मुलुंड पहुंचेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)