तमिल समाज करेगा शिवसेना का बंटाधार

0

30 हजार तमिल समाज के लोग निरुपम को विजयी बनाएंगे
खासदार, आमदार फिर भी सुविधा है बेकार
सत्यप्रकाश सोनी/दोपहर
मुंबई। देश के लोकसभा चुनावी महोत्सव में नेता से लेकर मतदाता तक लोगो के बीच सिर्फ एक ही चर्चा रहती है वह है ‘कौन क्या किया है और कौन क्या करेगा’ लेकिन नेता कुछ करें या ना करें लेकिन चुनाव के समय वादाखिलाफी जरूर करते है। जिसका चर्चा मुंबई के गली मोहल्ले में सुनाई पड़ने लगे है। ऐसी ही वादाखिलाफी का मामला मुंबई आरे कॉलोनी का सामने आया है जहां शिवसेना के खासदार,आमदार,नगरसेवक सब है लेकिन काम के नाम पर सिर्फ बदाख़िलाफी की गई है। जो काम किया है वह सिर्फ खानापूर्ती की गई है।
इस मामले में आरे कॉलोनी बाला मुरुगन सुब्रमनियम कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष 52 एवं आरे तमिलर नलसंगम समाज अध्यक्ष ने शिवसेना खासदार गजानन कीर्तिकर एवं शिवसेना राज्यमंत्री रविन्द्र वायकर पर आरोप लगाते हुए बताया कि रविन्द्र वायकर सिर्फ आरे कॉलोनी में जगह पर कब्जा करने का काम किया है।उदाहरण के तौर पर बताया कि यूनिट 5 पंचवटी होटल से सटा हुआ शिवसेना राज्यमंत्री रविंद्र वायकर के द्वारा महाराष्ट्र सरकार के लाखों रुपये से वाचनालय बनाया है जिसको 24 घंटे बंद रखा जाता है। उसमे न तो कोई अख़बार आता है और नही कोई बैठने जाता है सिर्फ शिवसेना के लोग अपनी जरूरतों के समय खोलते है और बन्द करते है। जिसपर सिर्फ शिवसेना का कब्जा है। वही पास में पंचवटी होटल के सामने शिवसेना ने लाखों रुपये की लागत से लोगो को पीने के पानी की व्यवस्था (प्याऊ)की थी। जिसकी हालात महज कुछ ही दिनों में खस्ता हो चुकी है। जिसमे न तो पानी आता है और न तो कोई साफ सफाई सुरक्षा है सिर्फ राज्य के निधि का दुरुपयोग किया गया है। ऐसे कई काम शिवसेना ने किया है जो सिर्फ उनके निजी जरूरतों के लिए किया जाता है।
स्थानीय राहवाशिओ ने आरोप लगाते हुए बताया है कि शिवसेना खासदार,आमदार सिर्फ बिल्डर लॉबी को फायदा पहुचाने का काम करते है। लेकिन मूलभूत सुविधाओं के नाम पर कोई काम नही किया है। शिवसेना खासदार सिर्फ चुनाव के समय आरे कॉलोनी दिखते है बाकी समय खोजने पर भी नही मिलते है। वही विधायक राज्यमंत्री
शिवसेना राज्यमंत्री रविन्द्र वायकर ने भी आरे वाशियो के लिए कोई काम नही किया बल्कि रविंद्र वायकर का कहना है कि हमे आरे वाशियो का वोट नही चाहिए। यह कितना सच है इसका जबाब खुद वायकर ही देंगे।
आरे प्रशासन को भी घेरते हुए आरोप लगाया है कि यहां आरे वाशियो को उनके घर को रिपेयरिंग करने का परमिशन नही दिया है लेकिन शिवसैनिकों को आरे कॉलोनी में डबल महला घर बनाने की परमिशन दिया जाता है। अगर कोई घर की रिपेयरिंग की परमिशन मांगता है तो आरे सीईओ उनको परमिशन नही देते है।
तमिल समाज अध्यक्ष बाला मुरुगन सुब्रमनियम ने बताया कि आरे कॉलोनी में
तमिल समाज के करीब 30 हजार लोग रहते है। जिनका कांग्रेस को पूर्ण समर्थन है। क्योंकि कांग्रेस उम्मीदवार संजय निरुपम के कामों से प्रेरित तमिल समाज ने भारी मतों से विजय श्री दिलाने का संकल्प किया हूं। लोगो का कहना है कि आरे कॉलोनी में कई वर्षों से शिवसेना का कब्जा है लेकिन मूलभूत सुविधा गायब है। वही उत्तर पक्षिम कांग्रेसी उम्मीदवार संजय निरुपम ने वादा किया है कि आरे वाशियो को जितने के बाद लाइट मीटर की सुविधा के साथ आरे में सबसे बड़ी समश्या पानी की उसके लिए भी पानी की आपूर्ति की सुचारू व्यवस्था करने का संकल्प लिया है जिसको देखते हुए तमिल समाज के हजारों लोगों में जबरदस्त उत्साह है। जिसके फलस्वरूप कांग्रेस के उम्मीदवार संजय निरुपम की भारी मतों से विजयी बनाने का संकल्प लिया है। तमाम कोशिशों के बावजूद इस मामले में खबर लिखने तक शिवसेना खासदार की तरफ से कोई जबाब नही मिला।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)