भाजपा के मुंबई कॉल सेंटर पर आयोग का छापा

0

मुंबई के खार इलाके में छापा मारकर जब्त की प्रचार सामग्री
चुनाव आयोग की टीम के साथ कांग्रेसी भी छापेमारी में शामिल
इस बुकलेट में बालाकोट हमले और अभिनंदन का जिक्र करते हुए जनता से वोट मांगे जा रहे थे
बुकलेट में एक खास तरह का लगा है डिवाइस, प्रधानमंत्री का सुनाता संदेश

दोपहर संवाददाता
मुंबई। चुनाव आयोग के बार-बार मना करने के बावजूद पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक को लेकर भाषणों में जिक्र किया जा रहा है। यही नहीं, भाजपा के पदाधिकारी भी एयर स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कॉल सेंटर और ग्रीटिंग मैसेज के जरिए लोगों से वोट मांग रहे हैं। इसकी शिकायत के बाद मंगलवार शाम चुनाव आयोग की टीम ने मुंबई के खार इलाके में छापा मारकर भारी मात्रा में प्रचार सामग्री जब्त की है। इसमें पीएम का संदेश सुनाने वाली एक खास बुकलेट भी शामिल है।
इस कॉल सेंटर से लोगों को पीएम मोदी द्वारा रेकॉर्डेड संदेश भी सुनाया जाता था। छापेमारी की इस कार्रवाई में चुनाव आयोग की टीम के साथ कांग्रेस के लोग भी शामिल थे। इस पर भाजपा की ओर से नाराजगी जाहिर की गई है। यहां से भार मात्रा में चुनावी बुकलेट, सीडी और पैम्फ्लेट्स जब्त हुए हैं।
ऑडियो संदेश सुनाने वाली बुकलेट जब्त
यहां से बरामद पत्रिका के अंदर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ अंदर एक डिवाइस लगा है। जिसमें पीएम की आवाज आती है। इसमें वे लोगों से सेना के शौर्य और भाजपा द्वारा पाकिस्तान पर किए गए एयर स्ट्राइक के नाम पर लोगों से वोट देने की अपील कर रहे हैं।
पचास से ज्यादा लोग यहां काम करते थे
जिस दफ्तर में छापेमारी की गई है वहां पचास से ज्यादा लोग काम करते हैं। ये लोगों को कॉल कर उन्हें पीएम मोदी का सर्जिकल स्ट्राइक वाला ऑडियों सुनाते थे। इतना ही नहीं, लोगों के पते पर इस खास पत्रिका को पोस्ट भी किया जा रहा था।

पीएम मोदी पर बनी बायोपिक की रिलीज पर लगाई रोक
चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी बायोपिक के रिलीज पर बुधवार को रोक लगा दी है। यह फिल्म 11 अप्रैल को रिलीज होनी थी। पीएम मोदी की बायोपिक की रिलीज पर रोक चुनाव के संपन्न होने तक जारी रहेगी। चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जीवन पर आधारित बायोपिक की स्क्रीनिंग पर चुनाव आचार संहिता लागू होने का हवाला देते हुये रोक लगाई है। आयोग ने बुधवार को अपने आदेश में कहा कि चुनाव के दौरान ऐसी किसी फिल्म के प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी जा सकती है जो किसी राजनीतिक दल या राजनेता के चुनावी हितों का पोषण करती हो।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)